शनिवार, 21 जनवरी 2012

अब यूजीसी नेट की परीक्षा के तीनों पेपर होंगे ऑब्जेक्टिव


विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा आयोजित किया जाने वाली परीक्षा नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) के तीनों पेपर अब पूरी तरह ऑब्जेक्टिव होंगे। जून 2012 में होने वाली परीक्षा से इसे लागू कर दिया जाएगा। हम आपको बता दें कि पहले नेट के दो पेपर ऑब्जेक्टिव होते थे, जबकि तिसरा पेपर ऑब्जेक्टिव नहीं होता था।

गौरतलब है कि अभी तक नेट का तिसरा पेपर 200 अंकों का होता था जिसमें विस्तृत उत्तरीय प्रश्न होते थे, लेकिन अब इसके लिए भी पहले दो पहले दो पेपर की तरह ही बहुविकल्पीय प्रश्नों की मदद ली जाएगी। हालांकि इस निर्णय के बाद परीक्षार्थियों को परीक्षा में सफल होने के लिए 5 प्रतिशत अधिक अंक चाहिए। इस निर्णय की वजह उत्तर पुस्तिकाओं को चेक करने में लगने वाले अधिक समय बताया गया है।

अब इस परीक्षा में सामान्य श्रेणी छात्रों को अभी तक थर्ड पेपर में सफल होने के लिए सिर्फ 45 फीसदी अंकों की ज़रूरत होती थी, जबकी अब 50 फीसदी अंक लाने होगे। इसी तरह ओबीसी श्रेणी के तहत अब 40 फीसदी के बजाय 45 फीसदी और अनुसूचित जाति, जनजाति और शारीरिक रूप से विकलांग श्रेणी के छात्रों को अब 35 फीसदी की बजाय 40 फीसदी अंक लाने होंगे।

कमीशन की बैठक में यब भी निर्णय लिया गया कि परीक्षा के प्रारूप में हो रहे इस बदलाव के तहत परीक्षार्थियों के लिए एक क्वेशचन बैंक भी तैयार किया जाएगा।


1 टिप्पणी:

  1. THIS IS SO GOOD BECAUSE THE STUDENTS SAVES THE TIMES AT THE TIME OF EXAMINATION & ALSO THE TIME OF RESULT, BUT SOME TIME PARTICIPANT LOSS HIS/HER CRITICAL THOUGHT, THE DESCRIPTIVE WRITING SYSTEM PROVIDE A PLATFORM FOR CRITICAL THOUGHT AND AWARENESS.

    उत्तर देंहटाएं